वृष मासिक राशिफल - जनवरी का वृष राशिफल

जनवरी, 2021

वृष का सामान्य

इस माह भाग्य पक्ष कमज़ोर रहेगा। कहीं अनावश्यक वाद-विवाद की स्थिति बन सकती है। आपको सलाह है कि दूसरों के मामलों में अपनी टाँग ना अड़ाएँ। संतान के स्वास्थ्य की समस्या हो सकती है। जीवन साथी के स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्या आपको काफी परेशान कर सकती है, साथ ही उनका व्यवहार भी आपके प्रति बहुत रुखा रहेगा, आपसी सामंजस्य नहीं बन पायेगा या इसके लिए आपको बहुत प्रयास करना पड़ेगा। यदि आप दोनों में पहले से ही विवाद चला आ रहा है तो इस समय यह बहुत बढ़ सकता है, यदि कुंडली में सप्तम भाव खराब है तो अधिक सावधानी बरतें। धन प्राप्त करने में भी कठिनाई महसूस होगी। विशेषकर यदि व्यापार में हैं तो किसी को क्रेडिट ना दे, अन्यथा पैसे फंस सकते हैं। कुल मिलाकर इस माह परिश्रम अधिक व् प्राप्ति कम होने की स्थिति बन रही है।

वृष का आर्थिक जीवन

व्यापारियों के लिए थोड़ी कुछ क़ानूनी समस्यायें आयेंगी परन्तु अंत में वह सुलझ जायेंगी परन्तु इससे आपके व्यवसाय पर नकारात्मक असर पड़ेगा, बेहतर हो अपने कागज़ात ठीक रखें। नौकरी करने वाले अपने उच्च अधिकारियों से सतर्क रहें और अपने कार्य के प्रति लापरवाही ना बरतें। इस सप्ताह का सबसे नकारात्मक पहलु है आपका क्रोध जो अचानक और छोटी बातों पर भी उत्पन्न हो सकता है, परन्तु उससे आपका आर्थिक नुकसान काफी बड़ा हो सकता है, अतः कोर्ध पर नियंत्रण रखने की सलाह आपको दी जाती है। नयी नौकरी के लिए आवेदन करना हो तो प्रयास करें कि वह माह के मध्य में हो। इस माह भाग्य बेहतर ना होने के कारण किसी भी ऐसे कार्य में हाथ ना डाले जहाँ भाग्य पर अधिक आश्रित रहना होता हो। नए कार्य या बड़े निवेश के लिए बेहतर समय नहीं है, अतः यथास्थिति बनाये रखें।

वृष का स्वास्थ्य जीवन

स्वास्थ्य सामान्य तौर पर अच्छा रहेगा परन्तु क्रोध अधिक उत्पन्न होगा। संतान के स्वास्थ्य सम्बन्धी चिंता हो सकती है विशेष कर चोट-चपेट की सम्भावना बन रही है। घर में स्त्रियों का स्वास्थ्य भी ख़राब रहने की सम्भावना है विशेष कर आपकी पत्नी और माँ, इनके स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखें। आपको भी यात्रा के दौरान कुछ समस्या उभर सकती है विशेष कर पेट सम्बन्धी इसलिए खाने-पीने में परहेज रखें। रास्ते में यात्रा के दौरान वाहन थोड़ा परेशान कर सकता है अतः घर से निकलते समय उसकी अच्छे से जाँच कर लें।

वृष का पारिवारिक जीवन

थोड़ी मानसिक उलझने रहेंगी, मन थोड़ा उदास और परेशान रहेगा, आपको यह समझाना चाहिए की सभी दिन एक समान नहीं होते और नाही कोई भी परिस्थिति हमेशा बनी रहती है, सभी दिन परिवर्तनशील हैं चाहे वे अच्छे हों या बुरे। यदि आप पुरुष हैं तो महिला और यदि महिला हैं तो पुरुष से आत्मीयता बढ़ने के सम्भावना है जो आपसे उम्र में अधिक होगा /होगी साथ ही आप उसके बहुत करीब जा सकते हैं। यात्रा के लिए भी मध्यम समय है, अतः यदि अधिक आवश्यक ना हो तो अभी उसे स्थगित ही रखें और घर से निकलने से पहले अपने ज़रुरी सामानों की जाँच अच्छे से कर लें। यदि किसी पैतृक संपत्ति के विवाद से जूझ रहे हैं तो आपके पास अभी दो रास्ते हैं, पहला यह कि आप इसे भूल जायें और अपने बल पर संपत्ति अर्जित करने की सोचे क्योंकि उस संपत्ति को खड़ा करने में आपका कोई योगदान नहीं है, दूसरा यह कि लम्बे समय तक प्रतीक्षा करें।

वृष का सावधानी एवं उपचार

यात्रा में निकलने से पूर्व दही खाकर निकलें और शुक्रवार को पश्चिम की यात्रा ना करें, अति आवश्यक हो तो माँ काली को लाल पुष्प अर्पित करके ही बाहर जाएँ । योग और प्राणायाम नियमित करें। ठंडी वस्तुओं के सेवन से परहेज करें। सप्ताह में एक दिन भैरव मंदिर हो आएं। पिता को प्रसन्न रखें। सूर्य की उपासना करें। रात्रि में गर्म दूध का सेवन ना करें, ध्यान और योग करते रहें। घर को बिलकुल साफ रखें।