कन्या मासिक राशिफल - मई का कन्या राशिफल

मई, 2021

कन्या का सामान्य

इस माह आपका पराक्रम तो बहुत बढ़ा-चढ़ा रहेगा लेकिन प्रयास करें कि वह ज़रूरत से ज़्यादा भी ना हो। अहंकार पनप सकता है। आपके अंदर सबको कुचल देने की प्रवृत्ति बनेगी जो आगे चलकर आपके लिए बहुत हानिकारक हो सकती है। इस समय आप करीबियों की भी जल्दी नहीं सुनेंगे। तर्क शक्ति बहुत अधिक परन्तु नकारात्मक रहेगी। अनचाहे ख़र्च सर उठाएंगे, कई जगह आप उतावले पन में बहुत ख़र्च कर बैठेंगे। अतः आपको अपने पर नियंत्रण रखने की सलाह दी जाती है। घर से दूर जाना पड़ सकता है। शिक्षा और संतान सम्बन्धी कोई परेशानी पैदा हो सकती है। अपने से उच्च अधिकारियों से मनमुटाव पनप सकता है। कुल मिलाकर अपने क्रोध, अहंकार और आवेग पर नियंत्रण रखें।

कन्या का आर्थिक जीवन

अभी धन के मामले में समय अच्छा चल रहा है परन्तु यह लम्बे समय तक ऐसा ही नहीं रहने वाला अतः अब जो भी कदम उठायें वह सोच-समझकर उठायें। वर्तमान में कुछ नए अवसर प्रतीक्षा कर रहे हैं। इस माह कर्ज लेने से बचें क्योंकि यह आपको आगे चलकर उलझा सकता है। बहुत आगे बढ़कर और बड़े निवेश वाले कार्य भी ना करें। अपने साझेदारों और सहकर्मियों से मिलकर रहें और उन्हें नाराज़ ना होने दें।

कन्या का स्वास्थ्य जीवन

संतान के स्वास्थ्य सम्बन्धी कुछ समस्या उत्पन्न हो सकती है। साथ ही आपको भी अपने क्रोध और आवेग पर नियंत्रण रखने की आवश्यकता है। घर में स्त्री जातकों को कुछ समस्या उत्पन्न होने के आसार बन रहे हैं। माह के अंत में विद्युत उपकरणों से सावधानी बरतें।

कन्या का पारिवारिक जीवन

किसी भी व्यक्ति का सबसे बड़ा शत्रु और मित्र वह स्वयं होता है, उसके व्यवहार ही उसे पूजनीय या दंडनीय बनाते हैं। इसीलिए मैं यह बात हमेशा कहता हूँ कि यदि ईश्वर ने आपको सुखी और समर्थ बनाया है तो ईश्वर के प्रति आभार प्रकट करें और ईश्वर की राह पर चलें। अपने में अहंकार ना आने दें। यह सब बातें मैं आपको इसलिए कह रहा हूँ कि इस समय आप इस दौर से गुज़रेंगे जब आपके अंदर बहुत अधिक अहंकार और क्रोध उत्पन्न हो सकता है। सफलताओं के कारण आप अपने आगे किसी को इस समय कुछ नहीं समझेंगे। तर्क शक्ति बहुत अधिक होगी और काफी हद तक गलत दिशा में होगी जिसके परिणाम स्वरूप आप अपनों को ही दुश्मन बना बैठंगे या बहुत नाराज़ कर देंगे। आप के अंदर सबको दबाकर रखने की प्रवृत्ति उत्पन्न हो सकती है जिसके दूरगामी परिणाम अच्छे नहीं होंगे। उत्साह और पराक्रम ज़रुरत से ज़्यादा होगा और यह भी कोई अच्छी बात नहीं है। अपने कार्य स्थल और परिवार दोनों ही जगहों पर अपने से बड़ों से विवाद उत्पन्न होगा। किसी अचानक और अप्रत्याशित कार्यवश घर से दूर जाना पड़ सकता है।

कन्या का सावधानी एवं उपचार

इस माह का सबसे बड़ा उपचार और सबसे बड़ी सावधानी यह है कि आप अपनी सोच, वाणी, क्रोध और उतावलेपन पर नियंत्रण रखें। इसके लिए आप योग का सहारा ले सकते हैं। चाँदी के बर्तन में पानी और दूध का सेवन करें। गर्म वस्तुओं को खाने से परहेज रखें और यात्रा के दौरान लाल और पीले वस्त्रों का बिलकुल भी प्रयोग ना करें। भगवान शिव को दूध चढ़ाएं।