मीन मासिक राशिफल - जून का मीन राशिफल

जून, 2021

मीन का सामान्य

वैवाहिक जीवन के लिए सुखद समय नहीं है। जीवन साथी के साथ मतभेद हो सकता है। पारिवारिक सुख में कमी रहेगी। यदि आपका कार्य साझेदारी में है तो प्रयास करें कि कोई मतभेद ना हो अन्यथा बहुत हानि हो सकती है। स्थान परिवर्तन हो सकता है। विचार में निरंतरता नहीं होने के कारण किसी एक बात पर टीके रहना मुश्किल होगा। वादे निभाने में असफल हो सकते हैं। नए कार्य में हाथ डालने के लिए बिलकुल ही उचित समय नहीं है। अपने क्रोध और वाणी पर नियंत्रण रखें और बहुत सोच समझकर ही कुछ बोलें।

मीन का आर्थिक जीवन

नए निवेश या नए कार्य या नए विस्तार का समय नहीं आया है, अतः बेहतर होगा अपने कार्यों में यथा स्थिति बनाये रखने का प्रयास करें। नौकरी पेशा लोगों को अपने उच्च अधिकारीयों से थोड़ा तालमेल बैठाकर चलने की सलाह दी जाती है। पद्दोन्नति के लिए अभी कुछ समय प्रतीक्षा करनी पड़ेगी।

मीन का स्वास्थ्य जीवन

स्वास्थ्य को लेकर समय लगातार प्रतिकूल बना हुआ है, व्यसन से दूर रहें। घटना-दुर्घटना का लगातार योग बना हुआ है, शनि, राहु, केतु की दशा हो तो विशेष सावधानी बरतें।

मीन का पारिवारिक जीवन

पुनः यह माह बहुत अच्छा नहीं कहा जा सकता। विवाद करना इस समय बहुत हानि पहुँचा सकता है अतः किसी से भी विवाद हो तो उसे शांत भाव से सुलझाने का प्रयास करें। जीवन साथी से मतभेद उत्पन्न होने के संकेत मिल रहे हैं और साथ ही राज्य पक्ष और पिता से नाराज़गी या किसी प्रकार का विवाद उत्पन्न हो सकता है। विवाह के लिए तैयारी करने वालों के लिए समय बहुत उत्साह वर्धक नहीं है। समय लगातार प्रतिकूल बना हुआ है, कई प्रकार के तनाव के कारण मानसिक उलझने बनी रहेंगी। अभी काम ठीक से नहीं बन पाएंगे, स्वास्थ्य या विवाद के चलते अत्यधिक धन खर्च की सम्भावना है। परिवार के सदस्यों से वैचारिक मतभेद होगा और यही हाल सहकर्मियों के साथ भी रहने की सम्भावना है। तनाव के कारण निर्णय लेने में कठिनाई महसूस करेंगे। अत्यधिक क्रोध आने की सम्भावना रहेगी जिसके कारण अपने करीबी लोगों को भी नाराज़ कर देंगे जिससे तनाव और बढ़ेगा। दुष्ट प्रवृत्ति के लोगो से अधिकतम दूरी बनाये रखें और यदि ऐसे लोग आपके मित्र हैं तो उन्हें त्याग दें, आवेश में आकर कोई भी कदम ना उठायें अन्यथा परिणाम बिलकुल आपके पक्ष में नहीं आएगा। संतान से सम्बंधित भी कुछ समस्या उत्पन्न हो सकती है।

मीन का सावधानी एवं उपचार

क्रोध पर नियंत्रण रखना बहुत सी समस्याओं से दूर रखेगा। यात्रा में सावधानी अपेक्षित है, अपने आराध्य गुरु और विष्णु की आराधना करते रहें। व्यसन से बचें और अपनी वाणी को संतुलित रखें।